दिव्या भारती

जब भी सात समन्दर पार  मै तेरे  . .. .   song (  film  विश्वात्मा ) सुनाइ  देता  है तो  आँखो  के  सामने  एक  मासूम सा    चेहरा  आता  है वो चेहरा है स्व. दिव्या भारती का .  सूपर स्टार शाहरुख खान ने जिस स्टार  actress  के  साथ   film  दीवाना से  व   सुनील  शेट्टी   ने  बलवान   film  से अपने फिल्मी  career  कि शुरुवात की थी वो  दिव्या भारती ही थी .  जिसकी फिल्मे जब कभी भी देखते है तो लोग यही कहते है ये हिरोइन  इस दुनिया मे नही है क्योकि सब जानते  कि महज    19   साल कि उम्र मे  5  अप्रैल  1993  को अपनी बिल्डिंग के छज्जे से गिरने  की वजह परलोक सिधार गई . कुछ लोग इसे  murder मानते है तो कुछ लोग  suicide पर  अन्त  मे ये एक दर्दनाक हादसा ही करार दिया गया.उसके खाते मे तमाम एसी  super hit फिल्मे जैसे  शोला और शबनम ,  क्षत्रिय, दिल आशना है , आदि  जिनकी वजह से उसे नइ generation  के लोग  भी खूब पहचानते पर बहुत कम लोग ये जानते है कि इतने कम से समय मे उसने जो कामयाबी  के जो झंडे गाढ़ लिये थे उसके लिये उससे बड़ी उम्र कि हिरोइने तरस तरस रही  थी .जी हां आपको ये जानकर आश्चर्य होगा 80s  की न. 1 हिरोइन श्री देवी का जादू भी कुछ खास नही चल रहा था और उन्हे लाडला फिल्म इसलिये मिली क्योकि उनकी शकल काफी हद तक दिव्या से मिलती थी .
इस  फिल्म की शूटिंग  दिव्या आधे से ज्यादा  (80%) कर चुकी थी .खास बात  ये है कि फिल्म  मे  श्रीदेवी का  look , style  और attitude सब दिव्या भारती का ही था

DIVYA

जिसकी वजह से श्रीदेवी के career  मे नइ ताजगी  आई .हालांकि उम्र मे लगभग दस साल बड़ी श्री देवी से तुलना किये जाने पर दिव्या बहुत खुश होजाती थी और कहती थी कि श्री जी मुझसे ज्यादा खूबसूरत है .इसी तरह  दिव्या  की अकाल मृत्यु हो जाने  कि वजह से रवीना टंडन  को मोहरा   व   तब्बु को विजय पथ  जैसी दमदार  फिल्मे  मिली जिनकी वजह से से इन अभिनेत्रियो के filmy career को सही दिशा मिली   . शतरंज और रंग उसकी death के बाद  release हुई . super hit film रंग दिव्या के नाम से ही चली और  film का हीरो  हिंन्दी   फिल्मो  मे कोइ  कमाल नही दिखा पाया  कइ सालो बाद उसे एकता कपूर के  tv serial  कसम से मे   side  role  करता हुवा  देखा गया .  मशहूर फिल्म    producer   और  director   साजिद नाडियावाला  (  किक, हाउस फुल  इत्यादि ) कि दिव्या  पहली पत्नी थी  . दिव्या कि मौत के  लगभग   11 साल  बाद  2004   मे  साजिद ने वरधा खान    के   साथ  दूसरी  शादी  की . साजिद की लगभग हर फिल्म  की शुरुवात  दिव्या की  memories के साथ होती रही है .मौत से ठीक दो महीने पहले  sony channel  के एक tv show  मे  दिव्या  ने  अपने  आखिरी  interview  मे  कहा ” मै इस सफलता  के लिये ईश्वर  की  शुक्रगुजार  हूं   .  अगर   hollywood  या इससे ऊपर भी  कोई जगह है  तो मै वहां  जाना चाहुंगी  ,जहां  भी ईश्वर  मुझे  ले के  जायेगा मै जाऊंगी “. उस वक्त उसे  क्या पता था कि ईश्वर का इरादा उसे अपने पास बुलाने का था  जिससे ऊपर कोई   जगह नही है.

IMG-20160719-WA0013

Article written by

One Response

  1. Harshdev
    Harshdev at | | Reply

    आपने सही लिखा है शायद आज अगर दिव्या जी जीवित होती तो बालीवुड के लिए मील का पत्थर साबित होती।

Please comment with your real name using good manners.

Leave a Reply

shopify site analytics