Knowledge

Multiple Personality Disorder या अंधविश्वास

Multiple Personality Disorder या अंधविश्वास

मेरी उम्र करीब पांच या छ: साल रही होगी जब मैने देखा कि मेरी दादी चुपचाप बिस्तर पर लेटी हुई थी मै हमेशा की तरह उनका दुलार पाने के लिये उनके पास जाकर बैठ गई पर हमेशा ममता से भरी रहने वाली दादी के सिर पर हाथ रखा तो वे ‘कौन है’ चिल्लाते हुये मेरा हाथ झटक कर अचानक उठ के… Read more →

भारत की मिस वर्ल्ड

भारत की मिस वर्ल्ड

‘विश्व सुन्दरी’ नाम की अन्तराष्ट्रीय प्रतियोगिता सन 1951 मे शुरु होने के बाद वर्ष 1966 मे रीता फारिया (पेशे से डाक्टर) भारत की पहली मिस वर्ल्ड बनी, उसके बाद साल बीतते रहे पर कोई भी मिस इन्डिया  ‘ मिस वर्ल्ड’  का ताज पहन  नही पहन सकी, आखिरकार 28 सालो बाद सन 1994 वो स्वर्णिम साल बना था जब ऐश्वर्य  राय… Read more →

भाग्य और बुध्दि

भाग्य और बुध्दि

बहुत पहले मैने एक कहानी सुनी थी जिसमे भाग्य और बुध्दि की लड़ाई मे बुध्दि श्रेष्ठ साबित हुई, लेकिन तब मै इस कहानी से सहमत नही हुई क्योकि मैने बहुत से  मेहनती और बुध्दिमान लोगो को असफल होते देखा और मेरे मन मे एक सवाल आया कि क्या भाग्य साथ न दे तो बुध्दि भी  उस समय साथ छोड़ देती… Read more →

बोलने की कला

बोलने की कला

    बोलना वास्तविक रुप मे एक कला है, कहां क्या बोलना है? ये समझ पाना वास्तव मे कभी कभी बहुत कठिन होजाता है क्योकि सभी लोगो की सोच एक समान नही होती है. उदाहरण  के तौर पर नेता नगरी या आर्मी मे  तेज आवाज  मे बोलने वाले प्रभाव छोड़ते है वही उसी तेज आवाज का इस्तेमाल अगर कॉर्पोरेट या ग्लैमर… Read more →

परवरिश- महापुरुष का बेटा महापापी कैसे?

परवरिश- महापुरुष का बेटा महापापी कैसे?

जरुरी  नही कि पहलवान की सन्तान पहलवान बने या डॉक्टर की सन्तान डॉक्टर यहां तक कि इस बात की guarantee भी नही है कि महापुरुष का बेटा एक अच्छा इंसान बने, आपको ये सुन कर बहुत अजीब लगेगा हमारे राष्ट्रपिता महात्मा  गांधी जैसे महापुरुष का  बेटा हरिलाल एक महापापी इंसान था जिसने शराब के नशे मे अपनी ही नौबालिग बेटी के… Read more →

shopify site analytics